लड़की की हैंडराइटिंग आगे कंप्यूटर भी फ़ैल है

39399

दोस्तों इस दुनिया में ऐसे अजूबे भरे पड़े हैं कि जिनके बारे में जानकर आप दांतों तले उंगली ही नहीं बल्कि पूरा हाथ ही दबा लेंगे। कुदरत कब किस पर मेहरबान हो जाए, कोई नहीं बता सकता है। तो चलो दोस्तों लम्बी चौड़ी भाषण बाजी को छोड़कर मुद्दे पर आ जाते हे,,,
दोस्तों ऐसे ही हम आपको इस वीडियो में बताने जा रहे सेदेख जो एक अजूबे से कम नहीं है।

कहते है की इंसान की लिखावट उसके चरित्र का प्रमाण होती है हर व्यक्ति चाहता है की उसकी हैंडराइटिंग दुनिया में सर्वश्रेष्ठ हो परन्तु कुछ लोगो की ही हैंडराइटिंग अच्छी होती है अगर आपकी हैंडराइटिंग अच्छी है तो सामने वाले व्यक्ति पर भी उसका बहुत अच्छा प्रभाव पड़ता है ।
वो कहते है न “कौन कहता है आसमान में छेद नहीं हो सकता , एक पत्थर तो तबियत से उछाल कर देखो यारो” इसी कहावत को चरितार्थ किया है नेपाल की रहने वाली प्रकृति मल्ला ने जो की एक 8वी कक्षा की छात्रा है इस लड़की की हैंडराइटिंग देख कर ऐसा लगता जैसे इस बच्ची ने अपने हाथ से ना लिख कर किसी कंप्यूटर से प्रिंट आउट निकाला हो।
अभी यह महज 8वी कक्षा में पढ़तीं है। वह नेपाल के सैनिक आवासीय महाविद्यालय में पढ़ती है और उनकी हैंडराइटिंग देख कर अच्छो अच्छो को पसीने आ जाते है इतनी छोटी उम्र में इतनी अच्छी हैंडराइटिंग चमत्कार जैसी लगती है , आपको भी यह देख कर यह एक अविश्वसनीय लगेगा ।

मगर दोस्तों, यह हकीकत है। जी हां, नेपाल की इस स्कूली लड़की की खूबसूरत हैंड राइटिंग को एक बार देखते ही आप इसके मुरीद हो जाएंगे। इस बच्ची की हस्तलिपि देखकर आपको एक बार को तो ऐसा लगेगा मानो सीधे कंप्यूटर से प्रिंट आउट निकाला हो। हालांकि दुनिया में बहुत ही कम इंसानों की हैंड राइटिंग अच्छे स्तर की होती हैं, ज्यादातर तो बेतुके आखर ही कागज पे उकेरते हैं।

हालांकि आज कल हर काम हाथ से लिखने के बजाए कम्प्यूटर से होने लगा है। ऐसे में कई बच्चे तो अपना होमवर्क भी गूगल पर टाइप करके प्रिंट ले लेते है। इस दौर में नेपाल की रहने वाली प्रकृति मल्ला की हैण्ड राइटिंग देख कर लगता है कि मानो इसके हाथों में कोई कंप्यूटर प्रिंटर छुपा हुआ है। दरअसल प्रकृति ने सुलेख का बचपने से ही इतना ज्यादा अभ्यास किया है कि अब वह सामने नजर आने लगा है।

प्रकृति के स्कूल टीचर भी शुरू में उसकी हैंड राइटिंग देखकर चौंक गए थे। प्रकृति के माता पिता ने कहा है कि वह बचपन से ही रोजाना घंटों तक हैण्ड राइटिंग को कंप्यूटर की तरह बनाने में जुटी रहती थी। यही वजह है कि आज प्रकृति ने कंप्यूटर प्रिंट आउट से भी बेहतरीन राइटिंग बना ली है। इतनी सुंदर लिखावट के लिए प्रकृति को नेपाल सरकार और सेना ने पुरस्कार से भी नवाज़ा है।

इसी के साथ दोस्तों हम आपको अपनी हैंडराइटिंग अच्छी करने के कुछ तरीके बता रहे है जिस से आप भी अपनी हैंडराइटिंग अच्छी बना सकते हो

(1) लिखने की आदत बनाएं : कंप्यूटर और एसएमएस के बढ़ते चलन के कारण हैंडराइटिंग की अहमियत कम हो गई है | आजकल के बच्चों को हाथ से लिखने की बजाय कंप्यूटर पर टाइप करना ज़्यादा आसान और मॉडर्न लगता है | यही वजह है कि हैंडराइटिंग सुधारने की तरफ़ न तो बच्चे ध्यान देते हैं और न ही टीचर्स इस दिशा में प्रयास करने की ज़हमत उठाते हैं, जबकि वास्तविकता यह है कि भविष्य में सफल होने के लिए हैंडराइटिंग अच्छी होनी बहुत ज़रूरी है | यह सबसे ज़रूरी है, कि आप लिखने का अभ्यास शुरू करें | अच्छी लिखावट के लिए लेखन का अभ्यास करना ज़रूरी है, इसके लिए आप अख़बार या किसी पत्रिका में से देख कर लिखने की आदत डाले, छात्र अपने पुस्तक के पाठ्यक्रम को देख कर भी लिखने का प्रयास के सकते हैं | सबसे ज़रूरी बात जो ध्यान रखने की है वो ये है की आप लिखते समय अपनी शब्दों पे ध्यान दें और जो शब्द सुन्दर नही बन रहे है उनको ठीक तरीके से बनाने की प्रैक्टिस ज़रूर करें |

(2) शब्दों और अक्षरों को सही तरीके से लिखें : ज्यादा से ज्यादा लिखने के साथ आप अपनी लिखावट पर भी ध्यान दें कि आपके शब्दों और अक्षरों के बिच में बराबर दुरी होनी चाहिए इससे आपका लिखा हुआ लेख बहुत साफ और सुन्दर दिखता है | जितना आप इस तरीके से लिखने की कोशिश करेंगे उतना ही आपको अपनी लिखावट में अंतर दिखाई देगा |

3) लेखन सामग्री का भी ध्यान रखें : लिखने के लिए जो भी पेन या पेंसिल आप इस्तेमाल कर रहें हो वो आपके लिए आरामदायक और सही होना चाहियें ताकि आपको लिखते समय परेशानी न हो |