भिखारी से सलमान खान की बहन कैसे बनी अर्पिता खान

2628

अलवीरा खान को तो आप सभी जानते होंगे लेकिन अर्पिता के बारे में एक ऐसा सच हे जिसे शायद कम ही लोग जानते होंगे। हम आपको बतादे की अर्पिता सलमान खान की सगी बहन नहीं हे और ये बात बिलकुल सच हे। उन्हें लेकर बॉलीवुड की गलियों से कई बाते सामने आती हे। आज हम आपको अर्पिता के बारे में ऐसे सच बताने जा रहे हे जो शयद ही आपने सुने होंगे।

आज हम आपको बताएंगे की कैसे अर्पिता खान की एंट्री खान परिवार में हुई। आप सभी जानते होंगे की सलमान खान का परिवार पहले से ही बहुत बड़ा था ,मतलब तीन भाई और उनकी लाड़ली अलवीरा खान। । आइये हम बताते हे की क्यों सलीम खान ने अर्पिता को गोंद लिया। सलीम खान रोज सुबह मॉर्निंग वॉक पर जाते थे। एक दिन मॉर्निंग वॉक पर जाते वख्त उनकी नजर रास्ते में एक औरत पर पड़ी , उस औरत के पास एक छोटी सी बच्ची थी और वो उसे पालने के लिए भीख मांग रही थी।

सलीम खान को उस पर दया आ गयी और वो अपने आप को उसकी मदद करने से रोक नहीं पाए। वे हर रोज उसके लिए खाना लेकर जाने लगे। लेकिन कुछ दिनों बाद ही सलीम खान ने देखा की उस औरत की मौत हो गयी हे। उस बच्ची की रो रोकर आँखे लाल हो चुकी थी , अब उस बच्ची के सामने न कोई रास्ता , न कोई विकल्प नजर आ रहा था। उस विलाप करती लड़की पर सलीम खान को दया आ गयी और उसी समय उन्होंने उस औरत के पास जाकर उस बच्ची को उठा लिया और उन्होंने सोचा की वो कभी भी इस बच्ची को कोई भी परेशानी नहीं होने देंगे। वे उसे अपने घर ले गए और सभी को सारी बात से अवगत कराया तो पुरे परिवार का दिल स्नेहिल हो गया।

उसके बाद जैसे ही उन्होंने उस बच्ची का नाम पूछा ,उसकी आँखे नम हो गयी और आंसू छलक गए लेकिन फिर उस बच्ची ने अपना नाम अर्पिता बताया। उसके बाद अर्पिता , खान परिवार की अच्छी ,प्यारी सदस्य बन गयी। सलीम खान ने अर्पिता को हर प्रकार की सुविधा दी। उन्होंने किसी भी प्रकार की सुविधा से उसे वंचित नहीं रखा। सलीम खान अर्पिता को अपनी लकी बेटी मानते हे और उसी प्रकार सलमान भी अर्पिता को अपनी लकी बहन मानते हे। सलीम खान ने मुस्लिम होते हुए भी अर्पिता की शादी पुरे हिन्दू रीतिरिवाज से कराई।

सलीम खान शादी में ज्यादा खर्च करने में विश्वास नहीं करते हे फिर भी उन्होने अर्पिता की शादी में एक ट्रेन मेडीप्लेन किया। अर्पिता की शादी को देखकर हर कोई इमोशनल हो गया था , यहां तक की अर्पिता की विदाई के वख्त खान अपने आंसू नहीं रोक पाए और जोर जोर से रो पड़े। इतना ही नहीं पूरा परिवार अपने दिल के टुकड़े की विदाई पर रो पड़ा था। खान परिवार ने अर्पिता को हर सुविधा दी जिसके चलते आज अर्पिता काबिल हे और अपने पेरो पर खड़ी हे। इस तरह देखा जाए तो खान परिवार बहुत ही दिल वाला हे।