हवलदार श्याम गए थे DSP के लिए चाय लेने, वापिस लौटते बन गए SDM, दिल को छू जाने वाली कहानी

3346

दोस्तों इस दुनिया में कब किसके साथ क्या हो जाए ये कोई नही बता सकता है. बहुत सारे लोग किस्मत पर विश्वास करते है. आपने देखा होगा कि कुछ लोगो को मेहनत करने के बिना ही काफी तरक्की हासिल होती है. जबकि कुछ लोग दिन रात मेहनत करते है फिर भी उन्हें उसका फल नही मिलता है. आज हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे है जिसकी किस्मत ऐसे चमकी की हर कोई हैरान रह गया. इसकी किस्मत के बारे में जानकर आप भी यही सोचने लग जाओगे काश हमारी भी ऐसी किस्मत होती.

दरअसल हुआ यूँ था कि श्याम बाबू नाम का हवलदार एक दिन अपने DSP के लिए चाय लाने जा रहे थे लेकिन उस दौरान कुछ ऐसा हुआ कि वह सीधे हवलदार से SDM बन गए. ये घटना UP के बलिया जिले की है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि श्याम बाबू ने पीसीएस-2016 में 52वीं रैंक हासिल की और इसके बाद 12वीं पास करने के बाद 14 साल से पुलिस विभाग में बतौर कॉन्स्टेबल पदस्थ श्याम बाबू प्रयागराज हेडक्वार्टर में तैनात किए गए. श्याम ने अपनी पढाई जारी रखी और इसी बदौलत वे एक दिन हवलदार से SDM बन गए.

श्याम UPPSC की तैयारी कर रहे थे. जिस समय वे चाय लेने के लिए जा रहे थे तो उसी समय UPPSC का रिजल्ट आ गया और श्याम हवलदार से सीधा SDM बन गए. हर कोई इस खबर को सुनने के बाद उन्हें सलाम करने लगा. श्याम एक बफादार पुलिस वाले है. उनका कहना है कि लोगो के मन में पुलिस को लेकर बहुत गलत धारणा है लोगो को लगता है कि पुलिस वाले इधर उधर से लोगो को लुटकर पैसा कमाते है वे लोगो की मदद नही करते है जबकि ऐसा कुछ नही है. पुलिस का काम है लोगो की मदद करना और हमेसा वे लोगो की मदद करती है. कुछ एक पुलिस वालो की गलत हरकतों की वजह से पूरी पुलिस सेना को बदनाम होना पड़ता है.

एक इंटरव्यू के दौरान श्याम बाबू ने बताया कि उनकी उम्र 33 साल है और वे एक छोटे परिवार से सम्बन्ध रखते है. उनके पिता की गाँव में किराने की एक छोटी सी दूकान है जिससे उनके घर का गुजारा होता है. उनकी माँ घर पर होती है. श्याम की 5 बहने है और 2 भाई है. सभी बहनों की शादी हो चुकी है और भाई इनकम डिपार्टमेंट में इंस्पेक्टर है. श्याम के SDM बनने से उनके परिवार वाले बहुत खुश है.

श्याम को हर तरफ से बधाई मिल रही है. श्याम ने अपनी पढाई पर पूरा ध्यान दिया और अपने माँ बाप के सपनों को पूरा किया है. ये उनकी मेहनत का ही फल है जो आज वे SDM बन गए है. दोस्तों कहते है न बिना मेहनत के कुछ नही मिलता है अगर आप मेहनत करते है तो उसका फल आपको जरुर मिलता है इसलिए हर किसी को तब तक मेहनत करनी चाहिए जबतक उसका फल न मिल जाए.